Followers

Thursday, October 1, 2009

भारत देश हमारा

सबका प्यारा सबसे न्यारा भारत देश हमारा
मस्तक हिमराज विराजे इसकी शान निराली है।
कण-कण में है सोना , खेतों में हरियाली है
भारत देश है सबका प्यारा ,इसकी शान निराली है।।
हरा भरा है आँगन इसका,घर-घर में खुशहाली है
जन्में इसकी मिट्टी में गाँधी ,नेहरू और सुभाष हैं।
जन्मी इसी मिट्टी में लक्ष्मीबाई महान हैं
देकर अपनी जान की बाजी , दी हमको आजादी महान है।
सबका प्यारा सबसे न्यारा भारत देश हमारा।।
भिन्न -भिन्न है भाषा इसकी , भिन्न- भिन्न हैं बोली
भिन्न -भिन्न है जाति धरम पर सबकी एक ही अभिलाषा है
भिन्नता में एकता ही जिसकी पहचान है
एक ही माटी एक ही गुलशन क्यारी जुदा -जुदा है
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तान महान है,हम इसकी संतान हैं।।
जन्म लिया है इस मिट्टी में ,पले बड़े हुए हैं इसकी गोद में
आंच न आने देंगे इसकी शान पर,रहते अपनी जान के
जान भले ही चली जाए, पर जाने न देंगे इसकी शान को
ऊँच-नीच और जात -पांत का भेद मिटाकर रखेंगे इसकी शान को
सबका प्यारा सबसे न्यारा भारत देश हमारा।।

2 comments:

  1. ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं, लेखन कार्य के लिए बधाई
    यहाँ भी आयें आपके कदमो की आहट इंतजार हैं,
    http://lalitdotcom.blogspot.com
    http://lalitvani.blogspot.com
    http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
    http://ekloharki.blogspot.com
    http://adahakegoth.blogspot.com
    http://www.gurturgoth.com
    http://arambh.blogspot.com
    http://alpanakegreeting.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. "आंच न आने देंगे इसकी शान पर,रहते अपनी जान के
    जान भले ही चली जाए, पर जाने न देंगे इसकी शान को"

    आज देश चारों ओर दुश्मनों से घिरा है तो ऐसा प्रण लेना हर नागरिक का कर्तव्य है॥

    ReplyDelete